गोलीय दर्पण की फोकस दूरी तथा वक्रता त्रिज्या में संबंध

15/06/2022 Vinod 0 Comments

गोलीय दर्पण की फोकस दूरी तथा वक्रता त्रिज्या में संबंध :-

गोलीय दर्पण की फोकस दूरी उसकी वक्रता त्रिज्या की आधी (half) होती है, अर्थात f = R/2

मन लिया कि दर्पण का ध्रुव (Pole) P है, PC मुख्य अक्ष, C वक्रता केंद्र तथा F मुख्य फोकस है। AM एक आपतित किरण है जो दर्पण के मुख्य अक्षय PC के समांतर और निकट है। CM दर्पण के बिंदु M पर लंबवत होगा, आपतन का कोण θ है और M से दर्पण के मुख्य अक्ष पर MD लंब है, तो

268 1
चित्र :- (a) अवतल दर्पण तथा (b) उत्तल दर्पण के किरण अरेख।

इस प्रकार गोलीय दर्पण की फोकस दूरी तथा वक्रता त्रिज्या में संबंध f = R/2

जहां f फोकस दूरी तथा R वक्रता त्रिज्या है।

Leave a Reply