आनुवंशिक कूट या जेनेटिक कोड, जेनेटिक कोड के गुण

21/06/2020 Vinod 0 Comments

RNA में चार प्रकार के नाइट्रोजन क्षार adenine (A), guanine (G), cytosine(C) तथा uracil(U) पाए जाते है, पास के तीन क्षारकों के समूह या ट्रिप्लेट को कॉडोन कहते है। ये codons एमीनो अम्ल के लिए आनुवंशिक सूचनाओं को संचारित करते है, प्रोटीन के निर्माण हेतु 20 एमीनो अम्ल के लिए 64 codons होते है जिसे आनुवंशिक कूट या जेनेटिक कोड कहते है।

64 codons में से तीन प्रोटीन समापन को संकेत करते है जबकि 61 कोडोंस 20 प्रकार के एमीनो अम्लों के संकेत करते है।

  • जेनेटिक कोड का खोज तीन वैज्ञानिकों – निरेंबर्ग, हरगोविंद खोराना तथा मैथाई के द्वारा हुआ था।
clip image002 183 2
चित्र: — विभिन्न एमीनो अम्ल के लिए कॉडोंस

एमीनो अम्लों के लिए संकेत: –

Ala- Alanine

Arg- Arginine

Asn- Asparagine

Asp- Aspartic acid

Cys- Cysteine

Glu- Glutamine

Gly- Glycine

His- Histidine

Ile- Isoleucine

Leu- Leucine

Lys- Lysine

Met- Methionine

Phe- Phenylalanine

Pro- Proline

Ser- Serine

Thr- Threonine

Trp- Tryptophan

Tyr- Tyrosine

Val- Valine

जेनेटिक कोड के गुण : –

  1. जेनेटिक कोड हमेशा तीन नाइट्रोजन बेस के समूह में रहता हैं जो mRNA पर एक क्रम के रूप में व्यवस्थित रहता हैं,एक एमीनो अम्ल के लिए एक से अधिक codon होते हैं जिसे degenerate code कहते हैं।
  2. एक एमीनो अम्ल के तुरंत बाद दूसरे एमीनो अम्ल का codon शुरू होता है, इनके बीच विराम चिन्ह नहीं लगता है।
  3. हर प्रकार के जीवधारियों में एक ही प्रकार के जेनेटिक कोड का उपयोग होता है।
  4. अधिकांश प्रोटीन या polypeptide में प्रथम एमीनो अम्ल methionine होता है एवं mRNA पर इसके लिए AUG या GUG codons रहते है।वैसे codon जो polypeptide chain बनाने की क्रिया शुरू करते है,उसे AUG प्रारंभ codon कहते है।
  5. तीन codon UAA, UAG एवं UGA ऐसे codons होते है जो polypeptide chain के समापन का संकेत देते है, इस लिए इन्हे chain समापन codons कहते है।

Also read :- मानव जीनोम परियोजना ( Human Genome Project )

Leave a Reply